Udaipur me Ghumne Ki Jagah

उदयपुर राजस्थान में स्थित एक  आकर्षक और खूबसूरत शहर है। यहां आपको एक से एक सुंदर किले, झीले, पिकनिक स्पॉट और ऐतिहासिक स्मारक देखने को मिल जायेगी। यही कारण है की यहां दूर दूर से Tourist का जमावड़ा लगा रहता है। उदयपुर आपको पुराने राजा महाराजाओं के ज़माने की याद दिला सकता है। Udaipur me ghumne ki jagah एक से एक हैं, जो करोड़ों पर्यटकों का मन मोह लेती है। यहां सुंदर झीलें होने के कारण, इसे City of Lakes भी कहा जाता है।

 

कुछ लोग उदयपुर को राजस्थान का कश्मीर भी कहते है, आप सोच सकते है की यह शहर कितना खूबसूरत होगा। कहा जाता है की महाराणा उदय सिंह ने साल 1559 को उदयपुर की स्थापना की थी, तथा इसे मेवाड़ की राजधानी बनाया। यहां आपको कई सारी जातियां एक साथ देखने को मिल जायेगी। यहां कई सारी फिल्मों की शूटिंग भी हुई है।

 

उदयपुर का इतिहास

उदयपुर का इस्तिहास आज से कई वर्ष पुराना है, इसका निर्माण 1559 को महाराणा उदय सिंह ने किया था जो की सिसोदिया वंश के बेटे थे। उन्होंने चितोरगढ़ से राजधानी को उदयपुर में शिफ्ट किया। 12वी सदी में यह क्षेत्र भील साम्राज्य का शासन क्षेत्र था, क्योंकि इसकी स्थापना उदय सिंह ने की। इसलिए इस शहर का नाम उदयपुर रखा गया। यह शहर लगभग 1818 तक राजधानी बना रहा, लेकिन 1947 के बाद मेवाड़ प्रांत राजस्थान का हिस्सा बन गया

Udaipur Me Ghumne Ki Jagah- उदयपुर में घूमने की जगह

सज्जनगढ़ किला

यह किला उदयपुर सीमा पर बना हुआ है, यह स्थान मेवाड़ वंश का स्थान है। इस किले के संरक्षक महाराजा सज्जन सिंह थे जिस वजह से इसे सज्जनगढ़ कहते है। इस किले के जरिए मानसून की जानकारी ली जाती है, इसलिए इसे ऊंचाई पर अरावली की पहाड़ी पर बनाया गया है। यहां से आपको पूरा उदयपुर का शहर आसानी से दिख जायेगा, रात के समय यह नजारा और भी सुंदर दिखता है।

Udaipur me ghumne ki jagah
सज्जनगढ़ का क़िला

 

सिटी पैलेस

Udaipur me ghumne ki jagah में से एक पिछोला झील है जो कि एक बहुत ही सुंदर झील है, जिसके किनारे पर एक सुंदर महल बना हुआ है। यह महल राजस्थान का एक बड़ा और आकर्षक महल है, जिसमे आपको कई रंगों की तसवीरे देखने को मिल जायेगी। यह महल बहुत ही बारीकी से बनाया गया है, इसकी सुंदरता का वर्णन करना मुश्किल है। यहां आकर आप राजा उदय सिंह के बारे के अच्छे से जान पाएंगे, उनके आलीशान कमरे, गार्डन आदि आप यहां देख सकते है।

Udaipur me ghumne ki jagah
सिटीपैलेस उदयपुर

 

जगदीश मंदिर

सिटी पैलेस के पास मौजुद यह मंदिर, भगवान विष्णु को समर्पित है। यह एक सुंदर हिंदू मंदिर है, यहां की कलाकृति बहुत ही सुन्दर है। यहां आकर आपको एक शांत और सकारात्मक अनुभव होगा। इस मंदिर के अंदर विष्णु जी की 4 हाथो वाली मूर्ति है, इसके अलावा इधर आपको अन्य कई मूर्तिया देखने को मिलेगी। यह मंदिर प्राचीन समय से बना हुआ है, जिसका पता आपको इसपर हुई पुरानी कलाकृति देख कर लग सकता है।

Udaipur me ghumne ki jagah
जगदीश मंदिर , उदयपुर

 

महाराणा प्रताप स्मारक

महाराणा प्रताप की इज्जत पूरे हिंदुस्तान में की जाती है, वह एक वीर योद्धा है। उदयपुर में उनकी स्मारक बनी है, जो महाराणा प्रताप की वीरता को दर्शाती है। यह स्मारक फतेह सागर के किनारे बनी हुई है, जहां महाराणा को चेतक घोड़े पर बैठे हुए दिखाया गया है। यह मूर्ति पीतल से बनी हुई है जिसका आकार 11 फीट है, आपको यहां आकर इस प्रतिमाह को देखना चाहिए।

Udaipur me ghumne ki jagah
महाराणा प्रताप स्मारक , उदयपुर

 

एकलिंग मंदिर

यह मंदिर भगवान शिव को समर्पित है, जो उदयपुर से सिर्फ 21 km की दूरी पर है। इसकी कलाकृति आपको हैरान कर देगी, ऐसी कला आपने कही नही देखी होगी। यह मंदिर लोगो के बीच काफी प्रसिद्ध है, इसे देखने दूर दूर से लोग आते है। इस मंदिर के छतर को पिरामिड का आकार दिया गया है, मंदिर के अंदर शिव जी की चतुर्मुखी मूर्ति स्थापित है। इस मूर्ति को काले मार्बल से बनाया गया है, साथ ही इसका आकार 15 फीट है।

Udaipur me ghumne ki jagah
एकलिंग मंदिर, उदयपुर

 

जयसमद झील

यह झील काफी पुरानी झील है, को बहुत ही सुंदर और शांति का अनुभव प्रदान करती है। इस सुंदर झील का निर्माण महाराजा जय सिंह ने 17 वी शताब्दी में कराया था। झील के चारो तरफ जानवर भी है, आपको यहां सुंदर अनुभव होगा और आप खुद को प्रकृति से जुड़ा हुआ पाएंगे। लोग सुकून प्राप्ति के लिए भी यहां आते है।

Udaipur me ghumne ki jagah
जयसमद झील

 

उदयपुर कैसे पहुँचे?

उदयपुर जाने के लिए तीन रास्ते है, जिसके से आप कोई भी एक रास्ता चुन सकते है।

सड़क मार्ग

यह सबसे जायदा इस्तेमाल किया जाने वाला रास्ता है कही भी आने जाने के लिए। आप अपने शहर से उदयपुर के लिए बस, या गाड़ी बुक कर सकते है। चाहे आप किसी भी शहर से हो आपको अपने शहर से उदयपुर के लिए बस मिल जायेगी। इसके अलावा आप टैक्सी या गाड़ी भी बुक करवा सकते है, जो आपको 1 या डेढ़ दिन में उदयपुर पहुंचा देंगे। बस या गाड़ी बुकिंग करने के लिए आप किसी बस अड्डे या टूरिस्ट गाइड से भी बात कर सकते है। इसके अलावा आप ऑनलाइन भी आराम से टिकट बुकिंग कर सकते है।

रेल मार्ग

रेल मार्ग कही भी जाने के लिए सबसे सुलभ तरीका है, इसमें आपको टॉयलेट आदि की भी सुविधा मिलती है। उदयपुर का रेलवे स्टेशन एक बड़ा स्टेशन है जहां हर शहर और राज्य की ट्रेन आती – जाती है। आपको अपने शहर से भी उदयपुर के लिए आसानी से ट्रेन मिल जायेगी। दिल्ली, पंजाब, हरियाणा, आदि जैसे कई राज्यों के रेलवे स्टेशन उदयपुर से जुड़े हुए है।

हवाई मार्ग

यदि आपको कही भी जल्दी पहुंचना है तो हवाई मार्ग सबसे बेस्ट मार्ग है। आप अपने शहर से महाराणा प्रताप हवाई अड्डे के लिए फ्लाइट बुक कर सकते है। उदयपुर का हवाई अड्डे के नाम महाराणा प्रताप हवाई अड्डा है, जहां से कई शहर की फ्लाइट आती जाती है। दिल्ली, उत्तर प्रदेश, मुंबई, समेत कई राज्यों से उदयपुर के लिए आपको फ्लाइट मिल जायेगी। इसकी टिकट आप ऑनलाइन और ऑफलाइन दोनो प्रकार से कर सकते है।

उदयपुर में कहाँ रुकें ?

उदयपुर एक बड़ा शहर है, जहां रोजाना लाखो पर्यटक आते है। यहां आपको एक से बढ़ कर एक होटल मिल जायेंगे जहां आप जीतने दिन चाहे stay कर सकते है। यदि आपको जायदा फैसलिटी चाहिए तो आपको महंगा होटल ले सकते है, जो आपको सुंदर नजारे, टैक्सी, wifi आदि की सेवा देंगे। इसके अलावा आपको यहां सस्ते होटल भी मिल जायेंगे आप अपने Budget के अनुसार होटल ले सकते है। होटल ले लिए आप ऑनलाइन बुकिंग भी कर सकते है।

यह थी कुछ जानकारी उदयपुर के बार में, की आपको कहा रुकना चाहिए, कैसे जाना चाहिए। इसके अलावा हमने आपको बताया की उदयपुर में घूमने की कौन सी जगह है। यदि आपको यह जानकारी अच्छी लगी तो इसे शेयर करे।

इसे भी देखें 👇👇

जयपुर में घूमने की जगह

मानसून में घूमने वाली जगह

 

Leave a comment