लखनऊ से महज़ कुछ दूरी पर हैं ये सुंदर हिल स्टेशन

आजकल की इस भागती दुनिया में हर कोई तनाव से घिरा हुआ है, किसी के पास जरा भी समय नहीं है। हर कोई एक दूसरे से आगे भागना चाहता है, जिस वजह से तनाव हमे घेर लेता है। ऐसे में घूमना फिरना हमारे लिए एक अच्छा विकल्प हो सकता है, यह हमारे लिए जरूरी भी है। सुंदर और मनमोहक  हिमालय के नजारे आपके स्ट्रेस को काफी समय के लिए दूर कर सकते है, और आपके दिमाग को फ्रेश कर सकते है। हिमाचल में ऐसे कई सारे अच्छे अच्छे हिल स्टेशन है, जहां आप अपने साथी या परिवार के साथ जा सकते है।

 

लखनऊ से बहुत पास यह सुंदर और ठंडे हिल स्टेशन ऐसी जगहें है, जहां हर व्यक्ति को खुद को खुश रखने के लिए जाना चाहिए। यहां आकर आप जिदंगी को खुशी से जीना सीखेंगे और प्रकृति के सुंदर नजरो से आपका दिल नही भरेगा। यहां आने के बाद आपको जो अनुभव मिलेगा, वो आप जिदंगी में कभी भूलना पसंद नही करेंगे। तो आइए जानते है छुट्टियों में घूमने के लिए हिमाचल में लखनऊ के पास मौजुद 16 हिल स्टेशन।

लखनऊ के पास 16 सुंदर हिल स्टेशन

अगर आप लखनऊ में रहते है, तो इससे अच्छा आपके लिए क्या हो सकता है। गर्मियों के मौसम में आप भीड़ भाड़ वाले इलाकों से दूर इन हिल स्टेशनों पर जा सकते है। हम आपको 16 हिल स्टेशनो की सूची प्रस्तुत करेंगे जो लखनऊ से बेहद पास है।

1: चित्रकूट

छुट्टियां बिताने के लिए चित्रकूट हिल स्टेशन एक अच्छा विकल्प है, जो लखनऊ से काफी पास है। आपको बता दे की इस जगह का उल्लेख हिंदू धर्म की धार्मिक किताबो में भी किया गया है। यहां भगवान राम, लक्ष्मण जी और माता सीता ने बनवास बिताया था, जिस वजह से यह जगह एक धार्मिक महत्व भी रखता है। यह हिल स्टेशन विंध्य पर्वत पर स्तिथ है जहां के सुंदर नजारे आपका मूड सही करने के लिए उपयुक्त है। यहां पास में कई सारे मंदिर और दर्शनीय स्थान भी है, जहां दर्शन कर आप सुकून प्राप्त करेंगे।

 

यह हिल स्टेशन लखनऊ ने 231 किलोमीटर दूर है, जिसमे आपको यहां पहुंचने में 5 घंटे लग सकते है। यहां तक पहुंचने के लिए आपको लखनऊ से गरीब रथ ट्रेन पकड़नी पड़ेगी। बारिश के समय यहां के नजरो की खूबसूरती 4 गुना बढ़ जाती है। यहां आपको रामायण काल से जुड़े कुछ मंदिर भी देखने को मिलेंगे, जैसे की हनुमान धारा, राम घाट, गोदावरी गुफा आदि।

2: भीमताल

भीम ताल एक देखने योग्य हिल स्टेशन है, जो बहुत ही सुंदर और सुकून देने वाला है। यह झील सुंदर नजारों से भरा हुआ है, इस सुंदर झील के चारो और बड़े बड़े सुंदर हरियाल से घिरे हुए पहाड़, किसको पसंद नही आयेंगे। इसके आस पास कई सारे Cafe और रेस्टोरेंट भी मौजूद है, जहां आप अपनी भूख मिटा सकते है। यह झील महाभारत काल से जुड़ा हुआ है, जिसका नाम पांच पांडव में से एक पांडव भीम के नाम पर रखा गया है।

 

लखनऊ ने यह जगह 368 किलोमीटर दूर है, लखनऊ से आप भीमताल या नातीताल तक रेल की मदद से आ सकते है। यहां आने के बाद आप बस या टैक्सी की सहायता से भीमताल तक पहुंच सकते है। भीमताल आने का सबसे अच्छा समय मार्च से लेकर अक्टूबर तक का है। यहां आप बोटिंग भी कर सकते है, रूकने के लिए यहां सुंदर और बड़े रिजॉर्ट भी है। घूमने के लिए झील, बांध, और कई पुराने मंदिर भी यहां है, जहां आकर आप दर्शन कर सकते है।

3: चंपावत

यह हिल स्टेशन उत्तराखंड के चंपावत जिले में स्तिथ है, यह एक प्राचीन शहर है, जो कई वर्ष पुराना है। यह सुंदर हिल स्टेशन शहर से लगभग 1615 मीटर की ऊंचाई पर है, जहां से आपको शहर के सुंदर नजारे देखने को मिलते है। कई वर्ष पुराने इस हिल स्टेशन में आपको सुंदर प्राकृतिक नजारे की कमी नही मिलेगी। इसके अलावा यह स्थान एक धार्मिक मान्यता भी प्राप्त किए हुए है, यहां पुराना शिव और शनि देवता का मंदिर भी है।

 

खासतौर पर मोटोसाइकिल चलाने वालो के लिए यह एक पसंदीदा स्थल है क्योंकि यहां घुमावदार सड़के है, जहां बाइकर्स राइडिंग कर सकते है। लखनऊ से हिल स्टेशन 365 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है, लखनऊ से आप सड़क मार्ग के रास्ते इधर 9 घंटे में पहुंच सकते हैं। इधर आने के लिए सबसे अच्छा समय अप्रैल से जुलाई तक का है। इसके अलावा यहां आपको कई सारे हिंदू देवी देवताओं के मंदिर देखने को मिलेंगे। लोगो के रुकने की यहां पूर्ण व्यवस्था की गई है, जिसके लिए यहां पर रिसॉर्ट और होटल्स का भी निर्माण किया गया है।

4: नौकुचियाताल

नौकुचियाताल एक गांव है, जहां पर सुंदर झील है, को अपने शांत वातावरण और सुकून के सुंदर अनुभव के लिए जाना जाता है। यह जगह ऐसे लोगो के लिए एक अच्छा विकल्प है जो प्रकृति से बहुत प्रेम करते है। यह स्थान एक बड़ी और 40 मीटर गहरी नौ झीलों के लिए प्रसिद्ध है। इसकी लखनऊ से दूरी लगभग 372 मीटर है, यहां तक पहुंचने के लिए आप कोठगोदाम रेलवे स्टेशन तक ट्रेन से आ सकते है।

 

सिर्फ लखनऊ ही नही आपको कई बड़े शहरों से यहां तक के लिए ट्रेन आराम से मिल जायेगी। रेलवे स्टेशन से आपको यहां तक पहुंचने के लिए टैक्सी या बस लेनी होगी जो यहां तक आती हो। अन्य जगहों की तरह यहां भी आपको रुकने के लिए कई सारे होटल्स मिल जायेंगे।

5: नैनीताल

हिमालय की सुंदर पहाड़ियों के बीच स्तिथ नैनीताल एक सुंदर और मनमोहक हिल स्टेशन है। यहां एक झील है तो सुंदर पहाड़ों से घिरा हुआ है, सर्दियों के मौसम में पहाड़ बर्फ से घिर जाते है जिससे यहां की खूबसूरती बढ़ जाती है। यह स्थान एक धार्मिक मान्यता भी प्राप्त किए हुए है, जिस वजह से यहां भक्तो को भीड़ भी उमड़ी रहती है। मैनिटल एक ऐसी जगह है, जो आपको सुकून और शांति का अनुभव कराएगा।

 

लखनऊ ने नैनीताल की दूरी लगभग 380 किलोमीटर है, जिसमे आपको पहुंचने में 8 घंटे लगेंगे। गर्मियों में मौसम में यहां का तापमान बहुत ठंडा रहता है, यह समय यहां आने के लिए सबसे अच्छा है। सर्दियों में यहां जमा देने वाली ठंड पढ़ती है, जो आप सहन भी नही कर पाएंगे। यहां का सनसेट और सनराइज का नजारा पूरे भारत में मशहूर है। झील के पास कई सारे धार्मिक मंदिर और स्थान भी है, जहां आप दर्शन कर सकते है।

6: पंगोट

पंगोट एक हिल स्टेशन है, जो नैनीताल से थोड़ी दूरी पर ही स्तिथ है। यह स्थान अपनी विदेश शांति और सुकून के लिए जाना जाता है। यहां पर लोगो की भीड़ भी बहुत कम आती है, क्योंकि इस जगह के बारे में ज्यादा लोग नही जानते। यहां कुछ गांव भी है, जहां की आबादी बहुत ही कम है, इसके अलावा यहां आपको वन्य जीवन का अनुभव बहुत पास से करने को मिलेगा। फ्योग्राफर के लिए यह जगह एक खास जगह हो सकती है, यहां की सुंदरता है ही इतनी अच्छी।

 

लखनऊ से यह जगह 400 किलोमीटर दूर है, यहां से नजदीकी रेलवे स्टेशन, हलद्वानी, और काठगोदाम है। यहां के लिए आपको लखनऊ से आसानी से ट्रेन मिल जायेगी, इसके अलावा आप बस की सहायता से भी यहां पहुंच सकते है। इसके बाद आपको बस या टैक्सी करनी होगी इस हिल स्टेशन तक पहुंचने के लिए। अक्टूबर महीने से जून तक का समय यहां घूमने के लिए सबसे बेस्ट है, क्योंकि इस दौरान यहां खास किस्म के पक्षी आते है।

7: अल्मोड़ा

अल्मोड़ा पर्यटकों के बीच काफी प्रसिद्ध हिल स्टेशन है, जो लखनऊ से करीब है। गर्मियों की छुट्टियों में यह एक अच्छा विकल्प माना जाता है, इस दौरान यहां काफी भीड़ भी होती है। यह स्थान एक ऐतिहासिक मान्यता भी प्राप्त किए हुए है, आपको यहां कई सालो पुराने मंदिर देखने को मिलेंगे। अल्मोड़ा आने पर आप एक खास अनुभव प्रदान करेंगे जो आपको पुराने समय की याद दिलाएगा।

 

लखनउ से यह जगह 430 किलोमीटर दूर है, जहा पहुंचने के लिए आपको लखनऊ ने कोठगोदम तक की ट्रेन पकड़नी होगी। कोठगोडाम रेलवे स्टेशन से कई टैक्सी, ऑटो अल्मोड़ा तक जाते है। इधर आने के लिए सबसे अच्छा समय जून से नवंबर तक का है। हिल स्टेशन के पास कई सारे हिंदू धर्म के धार्मिक स्थल भी है, जहां आप जा सकते है। इसके अलावा लोगो के रुकने के लिए यहां कई सारे भव्य होटल का भी निर्माण किया गया है।

8: रानीखेत

रानीखेत लखनऊ से करीबी हिल स्टेशनों में से एक है, यह जगह अंग्रेजो की मनपंसद जगहों में से एक है। यहां आपको पूरा मंदिर, हरियाली, और सुंदर नजारे एक साथ देखने को मिलेंगे। यहां के नंदा देवी शिखर के नजारे ऐसे है जिन्हे शब्दो में बयान नही किया जा सकता। रानी खेत की दूरी लखनऊ ने 422 किलोमीटर है यहां तक पहुंचने के लिए आपको लखनऊ ने कोठगोदान तक ट्रेन से आना होगा। हालाकि आधा सफर आप टैक्सी, या बस के मदद से कर सकते है।

 

बात की जाए यहां आने की तो इसके लिए सबसे अच्छा मौसम फरवरी से लेकर नवंबर तक का है। ऐसा इसलिए क्योंकि यहां सर्दियों में ठंड काफी पढ़ती है, और गर्मी में यहां आप बहुत अच्छा और ठंडा महसूस करेंगे। साथ ही यहां करने के लिए कई सारी चीजे है जैसे की प्राचीन मंदिर दर्शन, ऊंचाइयों से शहर देखना, ताजे फलों को तोड़ना और खाना आदि।

9: मुक्तेश्वर

यह हिल नैनीताल के पास मौजुद कई हिल स्टेशनों में से एक है। यह हिल स्टेशन अपने सुंदर और मनमोहक दृश्यों के लिए जाना जाता है। यह जगह खासतौर पर नए विव्हाहित जोड़े और गर्लफ्रेंड ब्वॉयफ्रेंड के बीच प्रचलित है। इसके अलावा यहां पथरीली और हरी भरी पहाड़िया, फलों के बगीचे और संकरे रास्ते भी है। यह सभी नजारे कपल्स के लिए जन्नत से कम नहीं है, यहां एक पुराना महादेव के मंदिर भी है। आप यहां आकर भगवान ने दर्शन प्राप्त कर सकते है, माना जाता है के मंदिर 3 शताब्दी से भी अधिक पुराना है।

 

कपल्स यहां आकर एडवेंचर का अनुभव भी ले सकते है, जिसके लिए यहां क्लाइंबिंग, कैंपिंग, हाइकिंग, और पैराग्लाइडिंग की भी सुविधा है। लखनऊ से यह जगह 405 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है, जहां पहुंचने के लिए आपको कोठगोदाम तक ट्रेन से आना होगा। इसके बाद आप अपनी प्राइवेट टैक्सी कर सकते है, मुक्तेश्वर तक पहुंचने के लिए। गर्मियों और बारिश में मौसम में यह जगह और अधिक सुंदर लगती है, इसलिए यहां आने का यह समय बहुत उत्तम है।

10: कौसानी

यह एक छोटा हिल स्टेशन है जो उत्तराखंड के भागेश्वर जिले में मौजुद है। यह छोटा सा हिल स्टेशन हिमालय का सुंदर नजारा प्रस्तुत करता है। यहां की खूबसूरती इतनी अच्छी है कि इस जगह को भारत का स्विट्जरलैंड माना जाता है। इधर से आपको बर्फ से ढके हुए, बड़े बड़े सुंदर और सफेद पहाड़ देखने को मिलेंगे। यदि आपको पैदल यात्रा करने का शौक है, तो यह हिल स्टेशन आपके लिए सबसे बेस्ट है।

 

यदि आप लखनऊ से यहां पहुंचना चाहते है तो उसके लिए आपको लखनउ से कोठगोदाम तक ट्रेन से आना होगा। यहां आने के बाद कौसानी तक पहुंचने के लिए आप प्राइवेट टैक्सी ले सकते है। गर्मियों के मौसम में यहां लोगो की भीड़ काफी आती है, इसलिए यह यहां आने का अच्छा समय है। यहां आकर आप ग्लेशियरों को काफी करीब से देखा सकते है, साथ ही आप यहां रुक भी सकते है जिसके लिए यहां होटल्स भी मौजूद है।

11: बिनसर

बिनसर लखनऊ के पास हिल स्टेशन में से एक है, जो अपने भव्य नजारों के लिए प्रसिद्ध है। यहां आने पर आप अल्मोड़ा के नजारों का अनुभव भी ले पायेंगे क्योंकि यहां से अल्मोड़ा सिर्फ 33 किलोमीटर दूर है। यहां के घास के मैदान और बर्फ की चादर से ढके हुए पहाड़ आपके चाह कर भी भूल नही पाओगे। यह उन लोगो के लिए एक पसंदीदा जगह है, जो वन्य जीवन को करीब से देखना पसंद करते है।

 

लखनऊ से इस जगह की दूरी 452 किलोमीटर है, आप यहां बस, ट्रेन और हवाई यात्रा की सहायता से भी पहूच सकते है। यहां आने के लिए सबसे अच्छा समय मई से अक्टूबर तक का है। यहां आज ही आए और सुंदर नजारों के साथ साथ भिनेश्वर महादेव मंदिर, वन्य जीव, और पक्षियों के दर्शन करे। जगह का अच्छे से अनुभव लेने के लिए आप यहां अच्छा खासा समय बिता सकते है जिसके लिए यहां होटल्स की व्यवस्था भी की गई है।

12: पिथौरागढ़

लखनऊ से आस पास मौजूद कुछ हिल स्टेशनो में से एक, पिथौरागढ़ हिल स्टेशन भी है। इसे भारत का छोटा कश्मीर भी माना जाता है, यह सुंदर हिल स्टेशन सर्दियों में बर्फ से ढका हुआ रहता है। यहां घूमने के लिए कई सारे दर्शनीय स्थान भी मौजूद है, जहां आप जाकर दर्शन कर सकते है। लखनऊ से इस जगह की दूरी लगभग 440 किलोमीटर दूर है, जिसके लिए आपको लखनऊ से काठगोदाम तक ट्रेन से आना होगा।

 

ट्रेन से यहां पहुंचने के बाद आप पर्सनल टैक्सी से पिथौरागढ़ तक पहुंच सकते है। यहां आने के लिए सबसे अच्छा समय अप्रैल से लेकर अक्टूबर तक का है। मां काली का सुंदर और भव्य मंदिर भी यह मौजूद है, जहां आकर आप मां के दर्शन प्राप्त कर सकते है। तो आज ही अपने परिवार के साथ यहां आइए और यहां के सुंदर नजारों का अनुभव ले।

13: लैंसडाउन

लैंसडाउन एक ऐसा हिल स्टेशन है जो देखते ही देखते लोगो के बीच काफी लोकप्रिय हो रहा है। यह हिल स्टेशन अपने खूबसूरत ऊंची पहाड़ियां, हरियाली, कम भीड़ भाड़ और सुंदरता के लिए प्रचलित है। यह हिल स्टेशन उत्तराखंड के पौड़ी गढ़वाल जिले में स्तिथ है जिसकी ऊंचाई 1,700 मीटर है। यह एक शांत और सुंदर जगह है, जहां आप अच्छा अनुभव लेने।

 

लखनऊ ने इस हिल स्टेशन की दूरी 510 किलोमीटर दूरी पर स्तिथ है। लैंसडाउन पहुंचने के लिए आप लखनऊ से

कोटद्वार तक की ट्रेन ले सकते है। इसके बाद आपको यहां से टैक्सी लेनी होगी हिल स्टेशन तक पहुंचने के लिए। इसके अलावा यदि आप जल्दी आना चाहते है तो आप देहरादून तक हवाई यात्रा भी कर सकते है। यहां आने के लिए सबसे अच्छा समय गर्मियों का है, इसके अलावा आप बारिश के मौसम में भी आप सकते है।

 

बारिश के मौसम में यहां की खूबसूरती और जायदा बढ़ जाती है। हिल स्टेशन के अलावा यहां घूमने के लिए कई सारे अन्य स्थान भी है कैसे की भल्ला झील, माता मंदिर, महादेव मंदिर, भीम मंदिर आदि।

14: देहरादून

देहरादून एक प्रसिद्ध जगह है, साथ ही यह मशहूर हिल स्टेशन में से एक है। देहरादून की खूबसूरती के बारे में बताने की जरूरत नही है यह स्थान अपनी खूबसूरत वादियों के लिए जाना जाता है। यहां आकर हर व्यक्ति एक सुंदर अनुभव प्रदान कर सकता है और यहां के सुंदर रास्तों पर घूमते हुए यहां का प्रसिद्ध भोजन का आनंद ले सकता है। यहां के मुख्य खाद्य पदार्थ में मोमोज, नूडल्स, कॉर्न आदि शामिल है।

 

यदि आप लखनऊ से यहां आना चाहते है तो आप यहां के लिए सिद्ध ट्रेन पकड़ सकते है। इसके बाद आपको बस या गाड़ी करने होगी जो आपको देहरादून में एक एक करके कभी चीजों को दिखाएगा। छुट्टियों के समय यहां काफी लोग दूर दूर से आते है, क्योंकि यह जगह है ही इतनी सुन्दर और शांत। यहां घूमने के लिए सहस्त्र धारा, महादेव मंदिर, माल रोड आदि जैसी कई सुन्दर जगह है। इसके अलावा आप यहां से मंसूरी, हरिद्वार और ऋषिकेश भी जा सकते है, यह जगह यहां से काफी पास है।

15: कनाटल

यह जगह कभी एक वीरान भूमि थी जो अब पर्यटकों के लिए उत्तराखंड के हॉटस्पॉट में से एक बन गई है। कनाटल का नाम एक खूबसूरत झील के नाम पर रखा गया था जो उस समय इस जगह की शोभा बढ़ाती थी। देखने लायक खूबसूरत पहाड़ियों और फलों के पेड़ों से घिरे लखनऊ के पास इस खूबसूरत हिल स्टेशन पर करने के लिए बहुत कुछ है । यह विचित्र स्थान विभिन्न प्रकार के फूलों और छोटे मंदिरों से समृद्ध है जो देखने लायक हैं।

 

कनाटल एक वीरान जगह है, जहां काफी कम लोग आते है, लखनऊ से यह जगह 596 किलोमीटर दूर है। जिसके लिए आप देहरादून या ऋषिकेश रेलवे स्टेशन तक पहुंच सकते है। इसके बाद आपको हिल स्टेशन तक पहुंचने के लिए बस या पर्सनल टैक्सी मिल जायेगी। गर्मियों के मौसम में यहां आना अच्छा माना जाता है क्योंकि सर्दियों में यहां जमा देने वाली ठंड पढ़ती है। सर्दियों में बर्फ और कोहरे के कारण यहां गाड़ी चलाना मुश्किल हो जाता है। यहां लोगो के लिए कैंपिंग, ग्लाइडिंग, आदि जैसे एक्टिविटी की भी सुविधा है।

16: चौकोरी

चौकोरी लखनऊ के पास एक ऐसा हिल स्टेशन है, जो लोगो के बीच कम प्रसिद्ध है, इस जगह के बारे में कम लोग जानते है इसलिए यहां आपको शांति मिलेगी। यहां से आपको नंदा देवी पर्वत के सुंदर नजारे देखने को मिलेंगे, जो आपको हमेशा याद रहेंगे। आप अपनी रोज की तंग और स्ट्रेस भरी दुनिया से बाहर आकर यहां के सुंदर नजारों, हरियाली और पक्षियों की चे चाहट के बीच अपना समय बिता सकते है। यकीन मानिए यह आपकी सारी थकान और स्ट्रेस को दूर करेगा, यहां पास में महादेव का प्रसिद्ध मंदिर पाताल भुवनेश्वर भी है जहां के दर्शन से आपका कल्याण हो सकता है।

 

यदि आप लखनऊ से यहां आना चाहते है तो आपको लखनऊ से आपको कोठगोदाम के लिए ट्रेन लेनी होगी। वहां से ट्रेन लेने के बाद आप यहां तक पहुंचने के लिए पर्सनल टैक्सी लेनी होगी। आप यहां किसी भी मौसम में आ सकते है, यहां के नजारे हर मौसम में आपको अच्छा अनुभव देंगे। यहां कई सारे हिंदू देवी देवताओं के मंदिर भी है जिनका वर्णन धार्मिक किताबो में किया गया है। तो यहां जब आप आयेंगे तो यकीन मानिए यह दिन आप कभी भूलना नहीं पसंद करेंगे।

Final words

तो दोस्तो यह थी जानकारी, हिमालय की गोद में मौजुद कुछ हिल स्टेशनो के बारे में। यह हिल स्टेशन लखनऊ से करीब ही है, यदि आप लखनऊ में रहते है तो यह आपके लिए सौभाग्य की बात हो सकती है। हमने आपको इस आर्टिकल में विस्तार से बताया छुट्टियों में घूमने के लिए हिमाचल में लखनऊ के पास हिल स्टेशन कौन से है। साथ ही हमने आपको बताया की आप यहां कैसे पहुंच सकते है आदि। यदि आपको यह जानकारी अच्छी लगी तो इसे ज्यादा से ज्यादा शेयर करे। आर्टिकल पढ़ने के लिए आपका बहुत बहुत धन्यवाद।

Leave a comment